तीनों बन्दर बापू के

तीनों बन्दर बापू के

नागार्जुन

बापू के भी ताऊ निकले तीनों बन्दर बापू के !
सरल सूत्र उलझाऊ निकले तीनों बन्दर बापू के !
सचमुच जीवनदानी निकले तीनों बन्दर बापू के !
ग्यानी निकले, ध्यानी निकले तीनों बन्दर बापू के !
जल-थल-गगन-बिहारी निकले तीनों बन्दर बापू के !
लीला के गिरधारी निकले तीनों बन्दर बापू के !
सर्वोदय के   नटवरलाल
फैला दुनिया भर में जाल
अभी जियेंगे ये सौ  साल
ढाई  घर  घोडे की  चाल
मत पूछो तुम इनका हाल
सर्वोदय के    नटवरलाल

साभार : http://hi.literature.wikia.com/

4 Responses

  1. Satya
    Satya April 4, 2008 at 4:39 am | | Reply

    Nagarjuna bana unme se ek bandar.

  2. saasha
    saasha February 14, 2013 at 4:25 pm | | Reply

    respect is given

  3. vijay
    vijay August 27, 2013 at 11:00 am | | Reply

    bandaro ki kahani theek hai

  4. अजय कु.
    अजय कु. September 2, 2014 at 1:59 am | | Reply

    तीन बन्दरों की कथा का मूल जापानी है, और है अर्थहीन यह कथा — अनदेखा और अनसुना करने से दुष्टता कैसे मिटेगी? वरन् बढ़ेगी… यह कविता व्यर्थ की तुकबन्दी है.

Leave a Reply

Are you human? *